Founder Message

Maharishi's Institutions Detail

Back

Maharishi Mahesh Yogi Vedic Vishwavidyalaya (महर्षि महेश योगी वैदिक विश्वविद्यालय)

Image


मध्य प्रदेश विधनसभा द्वारा 19 सितम्बर 1995 को एक विशेष विधेयक सर्वसम्मति से पारित करके महर्षि महेश योगी वैदिक विश्वविद्यालय की स्थापना की गई। 23 वर्षों से महर्षि विश्वविद्यालय 1,50,000 से अधिक विद्याथिर्यों को विभिन्न पाठ्यक्रमों में शिक्षित कर चुका है। वर्तमान में विश्वविद्यालय में निम्नलिखित पाठ्‌यक्रम इसके मुख्य परिसर ब्रह्मस्थान, ग्राम करौंदी, उमरियापान, जिला कटनी में उपलब्ध हैं-
स्नातक: बीए, बीकाॅम, बीकाॅम (कम्प्यूटर एप्लीकेशन), बीएससी (कम्प्यूटर साइंस), बीसीए, बीबीए, बीएड, बीपीएड
स्नात्कोत्तर: एमए (हिन्दी, संस्कृत, अंग्रेजी, शिक्षा, अर्थशास्त्रा) एमएससी (कम्प्यूटर साईंस, गणित)
पत्रोपाधि पाठ्‌यक्रम: पीजीडीसीए, डीसीए
वैदिक पाठ्‌यक्रम: शास्त्राी (बीए), आचार्य (एमएद्ध एवं पत्रोपाधि/डिप्लोमाः वेद विज्ञान, ज्योतिष, व्याकरण, योग, स्थापत्य वेद (वास्तु विद्या), गंधर्ववेद (भारतीय शास्त्राीय संगीत), भारतीय वैदिक दर्शन शास्त्रा, संस्कृत।
पीएचडी: समस्त वैदिक विषयों में एवं इंटरडिसिप्लिनेरी। निम्नलिखित पाठ्‌यक्रम दूरस्थ शिक्षा प्रणाली के अन्तर्गत उपलब्ध है जो कि यूजीसी के डिस्टेन्स एजूकेशन, भारत सरकार से मान्यता प्राप्त हैं।

महर्षि विश्वविद्यालय को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अधिनियम की धरा 2(f) के अंतर्गत मान्यता प्राप्त है एवं इसकी सभी उपाधियां यू.जी.सी. द्वारा मान्य हैं। महर्षि विश्वविद्यालय के प्रत्येक विद्यार्थी को अष्टांग योग की शिक्षा तथा वेद-विज्ञान की शिक्षा अनिवार्य रूप से प्रदान की जाती है। साथ ही प्रातः एवं संध्या भावातीत ध्यान, सिद्धि कार्यक्रम, योगिक उड़ान का अभ्यास कराया जाता है जिससे विद्यार्थी शांत प्रकृति से, योग में स्थित होकर कर्म करने की विद्या का उपयोग करके मानसिक शांति, शारीरिक विश्राम, प्रखर बुद्धि, अनंत सकारात्मक ऊर्जा, ज्ञानार्जन की अद्भूत शक्ति प्राप्त करते हैं और एक सपफल आदर्श नागरिक की भूमिका निभाते हैं।
महर्षि महेश योगी वैदिक विश्वविद्यालय का मुख्य परिसर भारतवर्ष के भौगोलिक केन्द्र बिन्दु-भारत के ब्रह्मस्थान, ग्राम करौंदी, पानउमरिया, जिला कटनी (पूर्व में जिला जबलपुर) में स्थित है जहाँ लगभग 50 एकड़ में प्रशासनिक भवन, शैक्षणिक भवन, पुस्तकालय, कम्प्यूटर केन्द्र भवन, फैकल्टी व स्टाफ आवास, विद्यार्थी छात्रावास, कुलाधिपति, कुलपति और कुलसचिव आवास आदि का निर्माण हो चुका है। 1000 सीटों युक्त वातानुकुलित आधुनिक सभागार निर्माणाधीन है।

महर्षि विश्वविद्यालय द्वारा अनुसूचित जाति/जनजाति, आर्थिक रूप से पिछडे़ वर्ग और छात्राओं के लिये शिक्षण शुल्क में विशेष छूट का प्रावधन है।

दूरभाषः 0761-2637213, 2637216, 4046152 मोबाइलः09755038115, 09755192725,09981994424
वेबसाइटः www.mmyvv.com ईमेलः mmyvv@mahaemail.com, mmyvvregistrar@gmail.com


Go to Website